अयोध्यापती "श्रीराम" सद्‌गुरु श्री अनिरुद्ध बापू के कर्ता गुरु है।

Thursday, 14 April 2016

HD WALLPAPER - गुरुकृपांजन पायो मेरे भाई, राम बिना कछु मानत नाही

गुरुकृपांजन पायो मेरे भाई, राम बिना कछु मानत नाही ॥
अंदर रामा बाहर रामा। सपने में देखत सीतारामा॥
जागत रामा सोवत रामा। जहा देखे वहां पूरनकामा॥
एका जनर्दनी अनुभव नीका। जहां देखे वहां राम सरीखा॥

0 comments:

Post a Comment

Copyright © 2015 Ramnavami Utsav